“एक संपूर्ण उसके भागों के योग से बड़ा होता है”

PersonalFN

हमारे कई लक्ष्य हैं, लेकिन क्या हमारे पास कई निवेश हैं?

अधिकांश निवेशक अपने ओरिजिनल इन्वेस्टमेंट (प्रिंसिपल अमाउंट) को खोने की चिंता किए बिना जल्द से जल्द ऐसे निवेश करना चाहते हैं जो उन्हें अत्याधिक उच्च रिटर्न प्रदान करें। इसके कारण, बहुत से लोग लगातार सर्वश्रेष्ठ निवेश रणनीतियों की खोज कर रहे हैं जो कम समय में कम या बिना किसी जोखिम के उनका पैसा बढ़ाने की क्षमता रखे।

निवेश के लिए बहुत से संभावित संयोजन हैं

अधिकांश निवेशक अपने ओरिजिनल इन्वेस्टमेंट (प्रिंसिपल अमाउंट) को खोने की चिंता किए बिना जल्द से जल्द ऐसे निवेश करना चाहते हैं जो उन्हें अत्याधिक उच्च रिटर्न प्रदान करें। इसके कारण, बहुत से लोग लगातार सर्वश्रेष्ठ निवेश रणनीतियों की खोज कर रहे हैं जो कम समय में कम या बिना किसी जोखिम के उनका पैसा बढ़ाने की क्षमता रखे।

सफलता और असफलता हमेशा साइक्लिकल होती है

एक व्यक्ति जो पिछले वर्ष के प्रदर्शन के आधार पर किसी फंड में निवेश करना चाहता है, उसे नीचे दिए गए चार्ट को ध्यान में रखना चाहिए, जो दर्शाता है कि पिछले वर्ष का सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला फंड जरूरी नहीं कि आने वाले वर्ष मे भी सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला फंड ही हो।

इसके अलावा, जिन फंडों ने लगातार सबसे अच्छा रिटर्न दिया है (जो अल्फा उत्पन्न करते हैं) कभी-कभी औसत रिटर्न या सबसे खराब रिटर्न भी दे सकते हैं।

विभिन्न प्रकार की स्थितियों और परिदृश्यों की उपस्थिति के कारण वित्तीय बाजार की निरंतर अस्थिरता और इसके भविष्य की सटीक भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है, प्रत्येक फंड का अपना स्पॉटलाइट होता है।

उपरोक्त चार्ट 2012 – 2021 से Nifty 100 (Large Cap), Nifty Midcap 150 (Mid Cap) और Nifty Small cap 250 (Small Cap) के चालू वर्ष के प्रदर्शन को दर्शाता है।

NIFTY 100 (Large Cap Performance)

2012 में NIFTY Large-Cap 100 का विकास प्रदर्शन असंतोषजनक था, लेकिन 2013 में यह सभी फंडों में सबसे अच्छा था। पिछले दो वर्षों (2014 और 2015) से फंड का प्रदर्शन असंतोषजनक रहा है। वर्ष 2017 में एक बार फिर अपने सबसे खराब प्रदर्शन से पहले इसने 2016 में थोड़ा सुधार किया। इसने वर्ष 2018 और 2019 में अपना स्थान शीर्ष पर  बनाये रखा, लेकिन यह वर्ष 2020 और 2021 के लिए सबसे खराब प्रदर्शन करने वाला फंड रहा।

NIFTY Midcap 150 (Mid Cap Performance)

प्रदर्शन में उतार-चढ़ाव के विश्लेषण से पता चलता है कि NIFTY Mid-Cap 150 ने 2012 में अल्फा जनरेट किया था, लेकिन 2013 से 2015 तक, इसका विकास प्रदर्शन सबसे खराब और सबसे अच्छे के बीच उतार-चढ़ाव करता रहा। यह 2016 में एक बार फिर शीर्ष पर पहुंचा; हालाँकि, 2017 से 2021 तक, इसका विकास प्रदर्शन मध्य में रहा।

NIFTY Small-cap 250 (Small Cap Performance)

2012 में NIFTY Small-Cap 250 फंड का विकास प्रदर्शन मध्य में था, 2013 में इसमें गिरावट आई, लेकिन यह अगले दो वर्षों (2014 और 2015) के लिए सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला फंड बना रहा। इसका प्रदर्शन 2016 में अपने सबसे निचले स्तर पर, 2017 में अपने उच्चतम स्तर पर और 2018 और 2019 में फिर से सबसे खराब था। इस फंड का प्रदर्शन 2020 और 2021 के वर्षों के लिए उत्कृष्ट था।

कोई भी निवेश करने से पहले, हमेशा यह सवाल करता है कि किस प्रकार के म्यूचुअल फंड में अपना पैसा लगाया जाए। यह बहुत कठिन चुनाव हो सकता है। आपके लिए किस प्रकार का म्युचुअल फंड सबसे अच्छा है; लार्ज, मीडियम या स्मॉल कैप; मल्टी-कैप; या सेक्टोरल फंड? यह समझना महत्वपूर्ण है कि प्रत्येक श्रेणी के अपने फायदे और नुकसान हैं।

“एक संपूर्ण उसके भागों के योग से बड़ा होता है”

लार्ज-कैप, मिड-कैप, स्मॉल-कैप और मल्टी-कैप जैसी अन्य श्रेणियों में आने वाले फंड में कुछ रिस्ट्रिक्शन्स हैं और उनके पोर्टफोलियो में रिप्रेज़ेंट करने वाली कंपनियों पर ध्यान बनाए रखने की आवश्यकता है।

उदाहरण के लिए, एक Large-Cap fund, mid और Small-Cap शेयरों में निवेश करने में असमर्थ होगा, भले ही इनके बाजारों में मूल्यांकन आकर्षक दिखाई दे।.

इसी तरह, एक Mid-Cap Fund को Mid और Small-Cap शेयरों में तब भी निवेशित रहना पड़ता है, जब Mid-Cap का बाजार कमजोर प्रदर्शन कर रहा हो। इस स्थिति में निवेशक के लिए Multi-Cap Fund सबसे बेहतर विकल्प हैं।

एक कॉम्बिनेशन आपको एक सुगम मार्ग देता है

चूकि Multi-Cap Fund पूरे बाजार में निवेश के अवसरों का सर्वाधिक लाभ उठाने में सक्षम हैं, इन्हें आम तौर पर फंड के निवेश होराइजन में अन्य श्रेणियों की तुलना में बेहतर धन निर्माता माना जाता है।

इसके अलावा, Multi-Cap कैटेगरी का लॉन्ग-टर्म रिटर्न Mid-Cap कैटेगरी के समान है, परन्तु कम फ्लक्चुएशस के साथ।

मल्टी कैप फंड क्यों चुनना चाहिए?

1. एक ऐसी इन्वेस्टमेंट स्ट्रेटजी जो सभी स्थितियों के लिए बनी है|

2. सभी अर्निंग साइकिल्स के अनुसार इन्वेस्टमेंट पोर्टफोलियो बनाया जाता है

3. मार्केट कैप के संदर्भ में सुविधाजनक पोर्टफोलियो निर्माण।

4. पोर्टफोलियो के सभी पार्ट्स बेहतर रिस्क-रिवॉर्ड का बैलेंस करते हैं|

5. पोर्टफोलियो का डायवर्सिफिकेशन|

प्रत्येक सेगमेंट के सबसे अच्छे हिस्सों को एक समग्र रूप में रखा जाता है, जो एक पोर्टफोलियो को और अधिक स्थिर बना सकता है।

Join Us Now

म्युचुअल फंड निवेश बाजार जोखिमों के अधीन हैं, योजना से संबंधित सभी दस्तावेजों को ध्यान से पढ़ें।

Share This